Wednesday, February 10, 2010

जुगाड़ लगाओ.. पहुँच बढाओ..

ये तसवीरें पूरी कहानी बयान कर रही है... 









मंझा आया!!

14 comments:

  1. चन्चल बचपन....बहुत प्यारे चित्र है!
    हमरा स्नेह!!
    http://kavyamanjusha.blogspot.com/

    ReplyDelete
  2. पूरी दुनियादारी सीख गये बालक मेरे...अब तो मम्मी पापा की खैर नहीं. :)

    ReplyDelete
  3. लेकिन ध्यान से...कुछ भी पलट भी सकता है

    ReplyDelete
  4. अरे ओ शैतान के अंकल,
    सुबह सुबह उठकर दुनिया तो कसरत करती है, ये कौन सा कसरत है भई?
    चल मुँह धोकर आ.

    ReplyDelete
  5. जिन्दगी में ये जुगाड़ बहुत काम आते है प्यारे ! सही चल रहे हो ! जय जुगाड़ !

    ReplyDelete
  6. गजब के जुगाड लगाये हैं प्यारे? आखिर ताऊ का पक्का भतीजा बनेगा तू.:)

    रामराम.

    ReplyDelete
  7. ओ जुगाड़ी बच्चे मुझे डर लगने लगा है अब ! पापा से कहो की प्लास्टिक के हल्के और आसानी से पलटने वाले जुगाड़ की जगह कोई भारी जुगाड़ रख दें !

    ReplyDelete
  8. वाह मुन्‍ना .. क्‍या मुस्‍कान है .. जंग जीतने के बाद की !!

    ReplyDelete
  9. बाप रे कितने शैतान होते जा रहे हो तुम...शाबाश... आज मेज पर चढ़े हो कल एवरेस्ट पर चढोगे...
    नीरज

    ReplyDelete
  10. hummm हमें तो लगता है कि आपके पापा भी इसी तरह शरारती रहेंगे....
    क्या कहा ?
    पापा नहीं मम्मी....
    अरे बाप रे! नहीं बोलेंगे हम ...आपकी मम्मी से हमें बहुत दर लगता है ना!

    ReplyDelete
  11. जरा आई.क्यू. टेस्ट कराओ बालक का - जीनियस लगता है!

    ReplyDelete
  12. अभी तो ली अंगडाई है आगे बहुत ...... आदि बेटा और मस्ती कर लो २ ३ साल फिर पढाई सिर्फ़ पढाई

    ReplyDelete
  13. बहुत सुंदर और प्यारे चित्र

    ReplyDelete

कैसी लगी आपको आदि की बातें ? जरुर बतायें

Related Posts with Thumbnails