Tuesday, August 24, 2010

रक्षाबंधन नंबर तीन...

आज मेरा तीसरा रक्षाबंधन था.. और इस बार मेरे लिए आकांशा ने राखी भेजी... मेरी राखी जोधपुर से दादा दादी के साथ बहुत दिन पहले ही आ गई थी...  

ये रही मेरी नन्ही बहन आकांशा....



आकांशा ने राखी भेज दी पर बांधने का काम तो मम्मु को ही करना पड़ा.. मम्मु ने प्यारी सी थाली सजाई.. ये देखो...


पर इस कटोरी में क्या है?

रेड रेड.. अभी पता चलेगा ये है क्या?

ये तो कुमकुम है... मम्मु ने सबसे पहले मुझे टीका लगाया...

और फिर टॉफी खिला कर मुहँ मीठा करवाया...

और फिर राखी बाँध दी... हाँ मुझे गुड भी खिलाया...

और फिर मेरी आरती... 

मम्मु ने इतना सब किया तो.. मैंने भी मम्मु को टीका लगा दिया... थंक्यू...

आपने राखी कैसे मनाई बताओ...?

14 comments:

  1. बडे हो गए आदित्‍य .. बहना को क्‍या गिफ्ट भेजा ??

    ReplyDelete
  2. वाह बहुत सुंदर अब एक अच्छा सा गिफ़्ट भी हो जाए आकांक्षा दीदी के लिए :)

    ReplyDelete
  3. वाह!! ये थैंक्यू टीका तो पहली बार देखा.शाबास. मिठाई मिली कि नहीं?

    मम्मु से कहो कि खीर बनाये. :)

    ReplyDelete
  4. आप को राखी की बधाई और शुभ कामनाएं.

    ReplyDelete
  5. आकांक्षा से कहना अपनी आँखों से थोड़ा सा काजल लेकर राखी वाले भाई के गाल पर लगा दे ! कहीं नज़र ना लग जाये !

    ReplyDelete
  6. रक्षाबंधन तो कित्ता प्यारा त्यौहार है...ढेर सारी बधाइयाँ. आपके फोटो न्यारे-न्यारे.
    ______________________
    "पाखी की दुनिया' में 'मैंने भी नारियल का फल पेड़ से तोडा ...'

    ReplyDelete
  7. बहुत-बहुत बधाई!
    --
    बाल चर्चा मंच पर भी आपकी चर्चा है!

    ReplyDelete
  8. रक्षाबंधन पर हार्दिक बधाइयाँ एवं शुभकामनायें!
    वाह बहुत बढ़िया लगा!

    ReplyDelete
  9. बहुत बढिया कार्यक्रम, राकही की हार्दिक बधाईयां.

    रामराम.

    ReplyDelete
  10. मैंने तो शेबी दीदी की भेजी राखी बांधी थी।

    ReplyDelete

कैसी लगी आपको आदि की बातें ? जरुर बतायें

Related Posts with Thumbnails