Thursday, November 11, 2010

बाबा आओ काऊ को घास खिलाते है...

काऊ (गाय) को रोटी और घास खिलाना जोधपुर में मेरा पसंदीदा काम है.... सुबह अगर कोई काऊ  का नाम ले ले तो एक दम उठ कर तैयार हो जाता हूँ.. काऊ को रोटी खिलाने... स्कुल जाते हुए रास्ते में काऊ को घास खिलाना भी बहुत जरुरी है...






है न आदि गुड बॉय....

20 comments:

  1. अरे भाई, ये आखिर वाला तो सांड है।
    यार, घास तो खिला दी। वास्तव में आदि गुड बॉय है। लेकिन गोबर कौन उठायेगा?

    ReplyDelete
  2. जोधपुर में काऊ को हमने भी बहुत घास खिलाई है , जोधपुर के कई चौराहों पर घास वाले घास बेचते है वहां घास खरीदकर काऊ को खिलाने वालों का तांता लगा रहता है | रोटरी चौराहे पर तो काऊ शाला की गाड़ी खड़ी रहती है जिसमे लोग घास डालते रहते है गाड़ी भर जाने पर गौशाला वाले ले जाते है |

    ReplyDelete
  3. ये तो बहुत अच्छी आदत है जी !

    ReplyDelete
  4. गाय को रोटी खिला बड़े पुण्य का कार्य कर रहे हैं आप।

    ReplyDelete
  5. अरे भला ....ये भी कोई पूछने की बात है !!
    आदि इज़ आलवेस गुड बॉय :)
    अनुष्का

    ReplyDelete
  6. ऎसे ही परोपकार करते रहो ..........

    ReplyDelete
  7. बहुत अच्छा लगा ...मै आई हूँ आज तुम्हें बधाई शुबह्कामनाएं और आशिर्वाद देने ...पापा ने बताया होगा न ..आज बालदिवस है ..

    ReplyDelete
  8. ओह्ह्ह...शुभकामनाएं ( सुधारकर पढ़ लोगे न?.. .प्लीज..)

    ReplyDelete
  9. बहुत सुन्दर पोस्ट सजाई है आपने!
    --
    पोस्ट के लिए बहुत सुन्दर चित्रों का चयन किया गया है!
    --
    बहुत-बहुत शुभकामनाएँ!
    --
    आपकी पोस्ट की चर्चा तो बाल चर्चा मंच पर भी है!
    http://mayankkhatima.blogspot.com/2010/11/28_15.html

    ReplyDelete
  10. वाह भई आदित्य तुम तो टकल हो गए. तुम्हारे ये फ़ोटो मैं आज पहली बार देख रहा हूं. यूं भी उतने ही जंच रहे हो. बस अब बालों के साथ गुस्से को भी फेंक दो...

    ReplyDelete
  11. ये बहुत अच्छा काम कर रहे हो आदि!! शाबास!!

    ReplyDelete
  12. cow ko ghas khilate ho....achhi baat hai...par
    gai ko bhi grass khilaya karo....

    mast raho bachba...

    ReplyDelete
  13. आज पहली बार आपके ब्लॉग पर आया हूँ बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति ......

    ReplyDelete
  14. फोटू कौन निकाल रहा है जी और गुड बॉय के साथ कौन जेंटलमैन हैं, गउ माता तो हमारी जानी-पहचानी लग रही है.

    ReplyDelete
  15. अरे आदि ! अब काऊ को घास ही खिलाता रहेगा या और नई बाते व अपनी हरकते बयातेगा !!
    कई दिनों से कोई पोस्ट नहीं आ रही ?

    ReplyDelete

कैसी लगी आपको आदि की बातें ? जरुर बतायें

Related Posts with Thumbnails