Thursday, January 14, 2010

बताइये साबजी कैसा लग रहा हूं मैं...

बाबा नेपाल से दौरा-सूरवाल लाये... बताइये साबजी कैसा लग रहा हूं मैं....








चक्कर पोटी का!!

सर्दी क्या आई जिसे देखो अपने सर पर पोटी लगाए घूम रहा है.. रंग बिरंगी पोटी..  आदि से सर पर पोटी.. बाबा से सर पर पोटी.. बिना पोटी लगाए कोई घर से बाहर ही नहीं निकलता... मम्मी जब मुंबई गई तो मैंने और बाबा दोनों दोनों से सर पर पोटी लगा दी.. सर्दी बहुत थी न.. और जब ये बात मम्मी को बताई तो मम्मी हैरान.. मुझे पता है आप भी हैरान हो गए होगें... 


चक्कर ये की मैं "टोपी" को "पोटी" बोलता था.. अब जाकर सही तरह से टोपी बोलना सिखा हूं..




12 comments:

  1. हा हा हा हा हा हा सोना लग रहा है हीरो....

    love ya

    ReplyDelete
  2. काँचा रे काँचा रे हहा हा हा हा
    love ya

    ReplyDelete
  3. बहुत सुंदर लग रहे हो .. अब टोपी बोलना सीख गए न .. अर्थ का अनर्थ हो रहा था पहले !!

    ReplyDelete
  4. Just a Big WOW. beta is looking cool and so handsome. I just want to hug him. pleaseeeeeeeeeee

    ReplyDelete
  5. श्श्लाम शाब!!..ये क्या नेपाल से आया बबूआ!!

    पोटी....हा हाहा!!

    बहुत प्यारे लग रहे हो!!

    ReplyDelete
  6. अले अले हमाला पलटू बाबा तो बहादुर लगता है, बहुत सुंदर

    ReplyDelete
  7. अरे बिलकुल हीरो लग रहे हो बेटा!

    ReplyDelete
  8. साब जी आप हमें बहुत अच्छे लग रहे हो तभी तो हमने आपको चर्चा मंच पर शामिल कर लिया है!

    ReplyDelete
  9. अरे कान्चा शुन्दर लग रहे हो .और तुम्हारी पोटी सारी टोपी बहूत शुन्दर है .

    ReplyDelete
  10. बहुत सुन्दर

    ReplyDelete
  11. अरे ये आदि आजकल नेपाली बन गया क्या?

    रामराम.

    ReplyDelete
  12. श्‍लाम शाब जी । अम बंबई से लिखता है शाबजी ।
    तुम तो अपना आदमी निकला शाबजी ।
    बोलो इदर कब आता है ।
    और तुमारा कांची किदर है शाबजी

    ReplyDelete

कैसी लगी आपको आदि की बातें ? जरुर बतायें

Related Posts with Thumbnails