Friday, January 15, 2010

आगस्, फायार्स और लोहड़ी

दो दिन पहले लोहड़ी थी.. वैसे तो कोई कार्यक्रम तय नहीं था.. पर शाम को पता चला की सोसाइटी में लोहड़ी मनाई जायेगी तो हम भी अपनी भागीदारी तय करने पहुँच गए... चंद तस्वीरें लोहड़ी की..

सर्दी बहुत थी तो हम भी टोपी डाल कर पहुँच गए..


क्या समझे..लोहड़ी सजा रहा हूँ... नहीं लकड़ी उठा कर भागने की तैयारी है..


और ये आगस्, फायर्स..


हम भी मम्मू की गोद में लोहड़ी की परिक्रमा कर आये..


और आप के लिए लाये है ये प्रसाद..



थेंक्यू...

10 comments:

  1. हमलोग तो अपने यहां लोहडी में जा भी नहीं सके .. तुमने तो बहुत इंज्‍वाई किया .. गनीमत है टोपी पहने आज .. पॉटी नहीं !!

    ReplyDelete
  2. बधाई जी बधाई खूब लोहड़ी मनाई :)

    ReplyDelete
  3. rudra to ghode bech kar sota raha ..............

    ReplyDelete
  4. ठीक है भई थैन्क यू टू

    ReplyDelete
  5. हैप्पी लोहरी आदि...और हैप्पी मकरसंक्रांति भी...
    नीरज

    ReplyDelete
  6. यार आदि तू तो शौकीन आदमी है, सारे त्योहांर मनाने मे आगे रहता है. हैप्पी लोहडी और मकर सक्रांती.

    रामराम.

    ReplyDelete
  7. वाह बच्चे...खूब त्यौहार मना लेते हो..अब वेनेन्टाईन डे की तैयारी होगी, क्यूँ???

    :)

    हमारा प्रसाद.....U.....थैंक्यू!!!

    ReplyDelete
  8. ... लेख मे 'लोहडी पर्व' पर भी तनिक प्रकाश डालते तो हम जैसे नये लोगों को जानकारी मिलती !!!

    ReplyDelete

कैसी लगी आपको आदि की बातें ? जरुर बतायें

Related Posts with Thumbnails